Drishti CUET में आपका स्वागत है - Drishti IAS द्वारा संचालित   |   Result CUET (UG) - 2023   |   CUET (UG) Exam Date 2024   |   Extension of Registration Date for CUET (UG) - 2024   |   Schedule/Date-sheet for Common University Entrance Test [CUET (UG)] – 2024   |   Rescheduling the Test Papers of CUET (UG) - 2024 for the candidates appearing in Centres across Delhi on 15 May 2024




करेंट अफेयर्स

Home / करेंट अफेयर्स

विविध

15 मई, 2024

    «    »
 15-May-2024

    No Tags Found!

भारत ने ईरान के साथ चाबहार बंदरगाह हेतु द्विपक्षीय अनुबंध पर हस्ताक्षर किये

  • भारत और ईरान ने चाबहार बंदरगाह के संचालन से संबंधित द्विपक्षीय अनुबंध पर हस्ताक्षर किये।
  • IPGL और ईरान के बंदरगाह एवं समुद्री संगठन के बीच 10 वर्ष के समझौते पर हस्ताक्षर किये गए जो चाबहार बंदरगाह विकास परियोजना में शाहिद-बेहस्ती टर्मिनल के संचालन की अनुमति देता है।
  • अमन सहरावत ओलंपिक के लिये क्वालीफाई करने वाले पहले भारतीय पुरुष पहलवान

अमन सहरावत पेरिस ओलंपिक- 2024 के लिये कोटा स्थान हासिल करने वाले पहले भारतीय पुरुष पहलवान बन गए हैं।

  • उन्होंने वर्ष 2024 के ओलंपिक के लिये कुश्ती में भारत के छठे कोटा के लिये सेमीफाइनल में कोरिया के चोंगसोंग हान को 12-2 से हराया।
  • उन्होंने इस्तांबुल, तुर्की में हुए विश्व कुश्ती ओलंपिक क्वालीफायर में पुरुषों के 57 किग्रा. फ्रीस्टाइल वर्ग में पेरिस कोटा हासिल किया।

FY24 में चीन बना भारत का सबसे बड़ा व्यापारिक हिस्सेदार

  • चीन वर्ष 2023-24 में 118.4 अरब डॉलर के द्विपक्षीय वाणिज्य के साथ भारत का सबसे बड़ा व्यापारिक हिस्सेदार बनकर उभरा है।
  • चीन दो वर्ष बाद संयुक्त राज्य अमेरिका से आगे निकल गया।

भारत-फ्राँस के बीच संयुक्त सैन्य अभ्यास शक्ति की शुरुआत

  • भारत-फ्राँस संयुक्त सैन्य अभ्यास शक्ति का 7वाँ संस्करण उमरोई मेघालय में शुरू हुआ।
  • यह भारत और फ्राँस में वैकल्पिक रूप से आयोजित एक द्विवार्षिक प्रशिक्षण कार्यक्रम है।
  • पिछला संस्करण नवंबर 2021 में फ्राँस में आयोजित किया गया था।

भारत की साहित्यिक और सांस्कृतिक धरोहर UNESCO की रीज़नल रजिस्टर में शामिल

  • रामचरितमानस, पंचतंत्र और सहृदयलोक-लोकन को UNESCO की मेमोरी ऑफ द वर्ल्ड एशिया-पैसिफिक रीज़नल रजिस्टर में शामिल किया गया है।
  • यह वैश्विक सांस्कृतिक संरक्षण प्रयासों में एक कदम आगे बढ़ने का प्रतीक है, जो हमारी साझा मानवता को आयाम देने वाली विविध कथाओं और कलात्मक अभिव्यक्तियों को पहचानने तथा सुरक्षित रखने के महत्त्व पर प्रकाश डालता है।